নবরাত্রি 2019: এগুলি একটি রোজার মধ্যে জল বুকের বাদাম খাওয়ার অনন্য সুবিধা


নবরাত্রি 2019: এগুলি একটি রোজার মধ্যে জল বুকের বাদাম খাওয়ার অনন্য সুবিধা

सिंघाड़े में आयोडीन और मैंग्नीज जैसे खनिज तत्व पाए जाते हैं। गौरतलब है कि ये खनिज तत्व सेहत और सौंदर्य दोनों के ही लिए फायदेमंद होते हैं। जानते हैं सिंघाड़े के फायदे…

सेहत अच्छी रहती है तो सब कुछ अच्छा लगता है लेकिन लोग मोटापा न बढ़ जाए इस चक्कर में डाइटिंग, कम खाना खाते हैं। कम खाना तो अच्छी बात है लेकिन मोटापा बढ़ने के चक्कर में उन चीज़ों से परहेज बिल्कुल भी सही नहीं जो आपको एनर्जी देने के साथ ही सेल्स की मरम्मत के लिए जरूरी होते हैं। नवरात्रि के नौ दिनों के व्रत में पूजा-पाठ के साथ अपनी डाइट का भी पूरा ख्याल रखें। वैसे तो आजकल मार्केट में व्रत के लिए कई सारी चीज़ें अवेलेबल हैं लेकिन सिंघाड़ा इससे बना आटा व्रत में खाने के लिए सर्वोत्तम है। आइए जानते हैं इसमें छिपे सेहत के खजाने के बारे में….

सेहत से भरपूर सिंघाड़ा 

इसे पानीफल भी कहा जाता है। यह लाल, हरे और इन दोनों रंगों के मिश्रण में भी मिलता है। ये विभिन्न प्रकार के पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, जबकि कैलोरी काफी कम मात्रा में पाई जाती है। यह शरीर के अंदरूनी अंगों के लिए एसी का काम करता है। इसके सेवन से शरीर को विभिन्न प्रकार के रोगों से राहत मिलती है साथ ही यह त्वचा में निखार लाने में भी मदद करता है। यह शरीर में मौजूद हानिकारक तत्वों को आसानी से बाहर निकाल देता है। यही कारण है कि इसके सेवन से न केवल शरीर निरोग रखने में मदद मिलती है, बल्कि सौंदर्य के लिए भी यह फायदेमंद माना जाता है। इसमें आयोडीन और मैंग्नीज जैसे खनिज तत्व पाए जाते हैं। गौरतलब है कि ये खनिज तत्व सेहत और सौंदर्य के लिए फायदेमंद होते हैं। यह ब्लड को प्यूरीफाई करने का काम करते हैं। इसलिए इसके सेवन से त्वचा में निखार आता है। यह त्वचा रोगों से भी बचाता है। इसमें पोटेशियम, जिंक, विटामिन बी और ई भी पाया जाता है। इसलिए यह त्वचा के साथ-साथ बालों के लिए भी फायदेमंद होता है साथ ही हृदय रोगों से भी रक्षा करता है।

 

মন্তব্য করুন

আপনার ই-মেইল এ্যাড্রেস প্রকাশিত হবে না। * চিহ্নিত বিষয়গুলো আবশ্যক।